अच्छा दिखने के लिये…

” अच्छा दिखने के लिये मत जिओ बल्कि अच्छा बनने के लिए जिओ जो झुक सकता है वह सारी दुनिया को झुका सकता है अगर बुरी आदत समय पर न बदली जाये, तो बुरी आदत *समय बदल देती है. “

Continue Reading

मिलो किसी से ऐसे कि

” मिलो किसी से ऐसे कि ज़िन्दगी भर की पहचान बन जाये, पड़े कदम जमीं पर ऐसे कि लोगों के दिल पर निशान बन जाये. जीने को तो ज़िन्दगी, यहां हर कोई जी लेता है, लेकिन, जीयो ज़िन्दगी ऐसे कि औरों के लब की मुस्कान बन जाये. “

Continue Reading

इज़हार -ए- इश्क़

दिल में अलग सा ये शोर क्यों हैं
उलझी तेरे मेरे रिश्तो की डोर क्यों है

जरा गौर से देख तो सही तेरे हाथो में
मेरे प्यार की छोटी सी लकीर हैं
फिर तेरी उम्मीद इतनी कमजोर क्यों है

जब भी पलके बंद की हैं मेने
बस तेरा ही खयाल आया है ख्वाबो में
जरा सोच तो सही मुझ पर सिर्फ तेरा ही सरूर क्यों है

जब भी नजरें मिलायी हैं तुजसे तेरी नजर झुकी ही रही
तू इश्क़ नहीं करती मुझसे
तो तेरी आँखें चोर क्यों है

तेरे इश्क़ की गहरायी और मेरे इश्क़ की तन्हाई
बस तेरे लबो में अरसो से कैद हैं
तो फिर तू इज़हार-ए-इश्क़ से दूर क्यों है

Continue Reading
1 6 7 8