ज़िंदगी तो सभी के..

ज़िंदगी तो सभी के लिए एक रंगीन किताब है, फर्क बस इतना है कि, कोई हर पन्ने को दिल से पढ़ रहा है, और कोई दिल रखने के लिए पन्ने पलट रहा है। हर पल में प्यार ह, हर लम्हे में ख़ुशी है, खो दो तो यादें हैं, जी लो तो ज़िंदगी है.

Continue Reading

Love can feel everyone

Love So You Can Be Filled With Dreams Where Emptiness Once Was,
Where Black Reigned As Darkness Now Filled With Rainbow Of Colors,
Love So You Can Soar Into The Clouds And Dance With Birds,
Long Forgotten Would Be The Damp Earth You Walked Once,
Love So You Can Feel The Warmth Like The Morning Sun’s Cheerful Embrace,
Not Of The Damp Shivering Winters,  Scarring, Bitter Heartless Cold,
Love So You Can Feel The Pain Of Longing The Sweetness Of Tender Care,
To Bleed Willingly, Joyfully  And Ask To Be Wounded More Deeply Again,
Love So You Can Learn To Live Unafraid Of Living Life To Its Fullest,
So You Can Know God In His Glory With Joyous Thankful Heart,
Love So You Can Live A Life Possessed, With Greatness And Ecstasy,
To Be Thankful With Gratitude For The Hurt You Know To Be A Gift,
Love So You Can Learn To Give And Share Rather Than To Take,
For One Who Only Takes Has Never Been Touched By Love’s Sliver Feather
And That’s How To Be The Best Friend You Can Be.

Continue Reading

मुस्कान प्रेम की भाषा है।

“मुस्कान प्रेम की भाषा है।”
“सच्चा प्रेम दुर्लभ है, सच्ची मित्रता और भी दुर्लभ है।”
“अहंकार छोडे बिना सच्चा प्रेम नही किया जा सकता।”
“प्रसन्नता स्वास्थ्य देती है, विषाद रोग देते है।”
“प्रसन्न करने का उपाय है, स्वयं प्रसन्न रहना।”
“अधिकार जताने से अधिकार सिद्ध नही होता।”
“एक गुण समस्त दोषो को ढक लेता है।”
“दूसरो से प्रेम करना अपने आप से प्रेम करना है।”
“जीवन उस इंसान के साथ बिताएँ जो आपको खुशी दे, उसके साथ नहीं जिसे आप को हमेशा प्रभावित करना पड़े।” – अज्ञात
“प्रेम ही है जो बेंच के दोनों किनारों पर जगह खाली होने पर भी दो लोगों को बीच में खींच लाता है।” – अज्ञात
“आप किसी से इसलिए प्रेम नहीं करते क्योंकि वे खूबसूरत हैं, बल्कि वे खूबसूरत हैं क्योंकि आप उनसे प्रेम करते हैं।” – अज्ञात
“सच्चा प्रेम भूत की तरह है – चर्चा उसकी सब करते हैं, देखा किसी ने नहीं।”
“प्रेम के बिना जीवन एक ऐसे वृक्ष के समान है, जिस पर न कोई फूल हो, न फल | ~ खलील जिब्रान”
“एक व्यक्ति दूसरे के मन की बात जान सकता है, तो केवल सहानुभूति और प्यार से, उम्र और बुद्धि से नहीं |”
“अहंकार छोडे बिना सच्चा प्रेम नही किया जा सकता।”
“दूसरो से प्रेम करना अपने आप से प्रेम करना है।”

Continue Reading
1 6 7 8