पहली नमस्ते परमात्मा

namste god, best thought

पहली नमस्ते परमात्मा को, जिन्होंने हमें बनाया है. “दूसरी नमस्ते माता पिता को, जिन्होंने हमें अपनी गोद में खिलाया है”. “तीसरी नमस्ते गुरुओं को, जिन्होंने हमको वेद और ज्ञान सिखाया है”. “चौथी और सबसे महत्वपूर्ण नमस्ते “आप को” “जिन्होंने हमें अपने साथ जुड़े रहने का मौका दिया है.

Continue Reading

कमियाँ तो मुझमें

time

कमियाँ तो मुझमें भी बहुत है, पर मैं बेईमान नहीं। मैं सबको अपना मानता हूँ, सोचता हूँ फायदा या नुकसान नहीं। एक शौक है शान से जीने का, कोई और मुझमें गुमान नहीं। छोड़ दूँ बुरे वक़्त में अपनों का साथ, वैसा तो मैं इंसान नहीं।

Continue Reading

किसी ने कहा

Silent-Tree

किसी ने कहा — जब हर कण कण मे भगवान है तो तुम मंदिर क्यूँ जाते हैं बहुत सुंदर जवाब हवा तो धुप में भी चलती है पर आनंद छाँव मे बैठ कर मिलता है वैसे ही भगवान सब तरफ है पर आनंद मंदिर मे ही आता है।।

Continue Reading

एक बेहतरीन सोच💚 ह

एक बेहतरीन सोच💚 हर एक की सुनो👂🏻 ओर हर एक से सीखो क्योंकि हर कोई, सब कुछ नही जानता लेकिन हर एक कुछ ना कुछ ज़रुर जानता हैं! स्वभाव रखना है तो उस 🔥दीपक की तरह रखिये, जो बादशाह के महल में भी उतनी ही रोशनी देता है, जितनी की किसी गरीब की झोपड़ी ⛺में….

Continue Reading

जिसका जैसा “चरित्र”

जिसका जैसा “चरित्र” होता है उसका वैसा ही “मित्र” होता है ”शुद्धता” होती है “विचारों” में “आदमी” कब “पवित्र”होता है फूलो में भी कीड़े पाये जाते हैं.., पत्थरों में भी हीरे पाये जाते हैं.. बुराई को छोड़कर अच्छाई देखिये तो सही.., नर में भी नारायण पाये जाते हैं..!! मैं आप के साथ हूँ ये मेरा भाग्य है। पर आप मेरे साथ है यह मेरा सौभाग्य है…

Continue Reading
1 2 3 5